Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

हैलो दोस्तों Anjan Tech Research में आपका स्वागत है, आज हम बात करेंगे Best stocks for short term gain Voltas  मौलिक रिपोर्ट Voltas का क्या रिपोर्ट है Financial Report  क्या है , अगर हम  short term के लिए खरीदते है तो क्या हमें Return मिलेगी।  तो चलिए पूरी जानकारी देखते है। 

Company About

वोल्टास दुनिया के प्रमुख इंजीनियरिंग समाधान प्रदाताओं और परियोजना विशेषज्ञों में से एक है। 1 9 54 में भारत में स्थापित, कंपनी हीटिंग, वेंटिलेशन और एयर कंडीशनिंग, प्रशीतन, विद्युत-यांत्रिक परियोजनाओं, कपड़ा मशीनरी, खनन और निर्माण उपकरण, सामग्री हैंडलिंग उपकरण, जल प्रबंधन और क्षेत्रों जैसे उद्योगों के उद्योगों के विस्तृत स्पेक्ट्रम के लिए इंजीनियरिंग समाधान प्रदान करती है। उपचार, शीत श्रृंखला समाधान, निर्माण प्रबंधन प्रणाली, और इनडोर वायु गुणवत्ता।

ठाणे, दादरा और पंतनगर में विनिर्माण इकाइयों के साथ, वोल्टास में कमरे / विभाजित एयर कंडीशनर, औद्योगिक एयर कंडीशनिंग और प्रशीतन उपकरण, जल कूलर, वाणिज्यिक रेफ्रिजरेटर, विज़िकूलर और फ्रीजर, साथ ही फोर्क-लिफ्ट ट्रक, क्रेन के निर्माण में कुल क्षमता है। , गोदाम और निर्माण उपकरण। इन सभी उत्पादों में अत्याधुनिक संयंत्र, मशीनरी और प्रक्रियाओं का टिकट है, जिसके परिणामस्वरूप लगातार उच्च गुणवत्ता और कम लागत होती है .

Read This : Intraday Top Gainer Top Loser New Strategy Part 1/ 

 

Voltas Positive Near Term Drivers 

अच्छी गुणवत्ता और उचित मूल्यांकन के साथ यह मिड कैप स्टॉक लंबी अवधि के लिए सकारात्मक दिखता है। इसके अलावा, सकारात्मक त्रैमासिक वित्तीय प्रवृत्ति और हल्के ढंग से बुलिश तकनीकी के साथ, यह निकट अवधि के लिए हल्के सकारात्मक दिखता है।

त्रैमासिक वित्तीय प्रवृत्ति सकारात्मक
पीबीटी कम ओआई (क्यू) 242.75 करोड़ रुपये पर 61.7% , शुद्ध बिक्री (क्यू) 2,048.38 करोड़ रुपये 28.2% पर बढ़ी है

तकनीकी मिलिटरी बुलीश

तकनीकी प्रवृत्ति 02 मई 2018 को बुलीश से हल्की बुलिश को 629.2 रुपये पर बदल गई
मूविंग एवरेज (दैनिक) ने 03 मई 2018 को बुलिश से मिल्डली बुलिश को 615.8 रुपये पर बदल दिया
एमएसीडी (साप्ताहिक) 24 अप्रैल 2018 को बुलिश से बियरिश बदलकर 639.4 रुपये पर बंद हुआ

Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

गुणवत्ता अच्छा
अच्छी गुणवत्ता वाली कंपनी के आधार पर दीर्घकालिक वित्तीय प्रदर्शन। एयर कंडीशनर क्षेत्र में सबसे बड़ी कंपनी

Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

मूल्यांकन FAIR

पिछले वर्ष में, मूल्य (33.26%) कमाई से अधिक बढ़ गया है (26.02%)
मौजूदा स्टॉक मूल्य और वित्तीय प्रदर्शन पर स्टॉक में उचित मूल्यांकन है

स्टॉक आउटलुक उद्योग एयर कंडिशनर , बाज़ार आकार 18,430 करोड़ रुपये (मिड कैप) , पीई 33.76 , उद्योग पी / ई 47.85 , भाग प्रतिफल 0.00% , ऋण इक्विटी-0.03 , लाभांश 16.16% , बुक करने के लिए मूल्य 5.46 , कुल बिक्री 2,021.30 करोड़ रुपये , शुद्ध लाभ (त्रैमासिक परिणाम – मार्च 2018) रुपये 1 9 2.65 करोड़

Quarterly Results

Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

1 Year Return

One Year Results

Annual Results

Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

Balance Sheet

Best stocks for short term gain Voltas in Hindi

 Shareholding Pattern

 

 

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

Best stocks for short term gain Bajaj Finance

हैलो दोस्तों Anjan Tech Research में आपका स्वागत है, आज हम बात करेंगे Best stocks for short term gain Bajaj Finance मौलिक रिपोर्ट Bajaj Finance का क्या रिपोर्ट है Financial Report  क्या है , अगर हम  short term के लिए खरीदते है तो क्या हमें Return मिलेगी।  तो चलिए पूरी जानकारी देखते है। 

बजाज फाइनेंस लगातार वित्तीय रुझान
अच्छी गुणवत्ता वाला यह बड़ा कैप स्टॉक लेकिन बहुत महंगा मूल्यांकन लंबी अवधि के लिए तटस्थ दिखता है। इसके अलावा, सकारात्मक त्रैमासिक वित्तीय प्रवृत्ति और बुलीश तकनीकी के साथ, यह निकट अवधि के लिए हल्के सकारात्मक दिखता है।

त्रैमासिक वित्तीय रुझान :- सकारात्मक

पीएटी (एचवाई) 1,487.76 करोड़ रुपये में 48.07% की वृद्धि हुई है / पीएटी (9 एम) 2,044.66 करोड़ रुपये 44.75% पर बढ़ी है

तकनीकी :- बुलीश 

तकनीकी प्रवृत्ति 17 मई 2018 को मिल्डली बुलिश से बुलीश को 2067.25 रुपये पर बदल गई , मूविंग एवरेज (दैनिक) ने 27 अप्रैल 2018 को बियरिश से बर्लिश को 1904.65 रुपये पर बदल दिया , एमएसीडी (साप्ताहिक) 02 अप्रैल 2018 को बियरिश से बुलिश को 1818.4 रुपये पर बदल गया

गुणवत्ता :- अच्छा
अच्छी गुणवत्ता वाली कंपनी के आधार पर दीर्घकालिक वित्तीय प्रदर्शन। वित्त / एनबीएफसी क्षेत्र में सबसे बड़ी कंपनी

मूल्यांकन :- बहुत विस्तारित है
पिछले वर्ष में, मूल्य (63.34%) कमाई से अधिक बढ़ गया है (39.50%) , मौजूदा स्टॉक मूल्य और वित्तीय प्रदर्शन पर स्टॉक में बहुत महंगा मूल्यांकन है

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

प्रदर्शन आज: 4.24% से बेहतर क्षेत्र
नया 52 सप्ताह और ऑल टाइम हाई: 2,167.50 रुपये का नया ऊंचा लगा , संक्रमित उदय: पिछले 6 दिनों से स्टॉक बढ़ रहा है और इस अवधि में 16.9 4% बढ़ी है , उच्च मात्रा के साथ मूल्य वृद्धि: कीमत 3.70% बढ़ी है और वॉल्यूम 342.80% बढ़ गया है (वॉल्यूम 5 दिन औसत वोल्टेज की तुलना में 04:00 बजे तक) , दिन का उच्च: स्टॉक 2,167.50 रुपये (4.85%) के इंटरेय उच्च को छुआ “Best stocks for short term gain Bajaj Finance”

Best stocks for short term gain Bajaj Finance

Best stocks for short term gain Bajaj Finance

Stock Outlook

Industry वित्त / एनबीएफसी , बाज़ार आकार 1,20,148 करोड़ (बड़ी कैप) , पीई 50.31 , उद्योग पी / ई 26.51 , भाग प्रतिफल 0.17% , ऋण इक्विटी 3.03 , लाभांश 15.81% , बुक करने के लिए मूल्य 7.95 , कुल बिक्री 3,534.76 करोड़ रुपये
शुद्ध लाभ (त्रैमासिक परिणाम – मार्च 2018) 720.9 5 करोड़ रुपये

Read This : How to check stock historical data / स्टॉक हिस्टोरिकल डाटा चेक कैसे क्या जाता है ?

अब हम देखेंगे Bajaj Finance की Yearly , Quarterly , Cash Flow report Snapshot

1 Year Return

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

Quarterly Results Snapshot 

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

Annual Result Snapshot

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

Balance Sheet

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

Share Holding Pattern

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

Best stocks for short term gain Bajaj Finance in Hindi

महत्वपूर्ण अस्वीकरण: लाभ के लिए व्यापार सीखना शैक्षणिक शिक्षा प्रदान करता है। हम व्यापार सलाहकार नहीं हैं
और हम किसी भी विशेष वस्तु या सुरक्षा को खरीदने या बेचने के लिए अपने आगंतुकों को सुझाव नहीं देते हैं।
हमारी वेबसाइट पर दी गई जानकारी व्यक्तिगत राय पर आधारित है और इसका उपयोग शैक्षिक के लिए किया जाना है
केवल उद्देश्य हमारी वेबसाइट पर जानकारी के आधार पर आप जो भी कदम उठाते हैं वह आपके विवेकाधिकार पर होना चाहिए।

व्यापार जोखिम भरा है: कभी भी उन फंडों के साथ व्यापार न करें जिन्हें आप खोने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं। सभी व्यापार निवेश
(विदेशी मुद्रा, भारतीय शेयर, मल्टीबैगर, शॉर्ट टर्म, विकल्प, वायदा, आदि) जोखिम भरा हैं। उधारित धन या आपकी जीवन बचत के साथ कभी भी व्यापार न करें। अमेरिका

What is Out The Money | OTM | in Hindi |

What is Out The Money “OTM” | in Hindi | आउट दि मनी क्या है ?

 नमस्ते दोस्तों Anjan Tech Research में आपका स्वागत है, आज हम इस बारे में बात करेंगे What is Out The Money “OTM” | in Hindi | आउट दि मनी क्या है ? स्टॉक मार्किट में डेरिवेटिव्स ऑप्शन “otm” आउट दि मनी Out The Money के बारेमे। स्टॉक Derivatives Option  आउट दि मनी  का जानकारी लेना बहुत ही  जरुरी है कॉल ऑप्शन ,पुट ऑप्शन  में ट्रेड करने के लिए।

तो दोस्तों चलिए देखते है आउट दि मनी  कॉल ऑप्शन और पुट ऑप्शन होता क्या है ? ( OUT THE MONEY ) IN HINDI

ऑप्शन में कॉल ऑप्शन और पुट ऑप्शन के स्ट्राइक प्राइस के ऊपर मह्त्ब देते हुए आउट दि मनी  कॉल ऑप्शन और पुट ऑप्शन तय होती है। इंट्राडे लाइव मार्किट में स्टॉक की करंट प्राइस के मुताबिक करंट स्ट्राइक प्राइस होती है। करंट स्ट्राइक प्राइस की जो भाव है उस भाव की ऊपर और निचे की प्राइस को लेके आउट दि मनी  ट्रेड होती है।

Read This : What is ITM | What is In The Money | स्टॉक ऑप्शन में इन दि मनी क्या है in Hindi ?

Call Option Out The Money : जैसे अगर किसी स्टॉक की करंट प्राइस 200 रूपए है और अपने स्ट्राइक प्राइस सेलेक्ट क्या बिकल्प 205 रूपए की कॉल ऑप्शन खरीदने के लिए तो इसे कहते है कॉल आउट दि मनी  . (OTM ) जब तक शेयर प्राइस 200 रूपए Market प्राइस की ऊपर रहेगी तब तक यह ट्रेड आउट दि मनी  रहेगी ।

What is Out The Money | OTM | in Hindi |

‘What is Out The Money | OTM | in Hindi |’

Put Option Out The Money : अगर किसी स्टॉक की करंट प्राइस 200 रूपए है और अपने स्ट्राइक प्राइस सेलेक्ट क्या बिकल्प 195 पुट ऑप्शन खरीदने के लिए तो इसे कहते है पुट आउट दि मनी  (OTM) . 

स्टॉक ऑप्शन में आउट दि मनी क्या है ? इन हिंदी |

 

Intraday Top Gainer Top Loser New Strategy Part 1/ एक दिवसीय शीर्ष लाभकर्ता शीर्ष हारने वाली नई रणनीति भाग 1

Intraday Top Gainer Top Loser New Strategy Part 1/ एक दिवसीय शीर्ष लाभकर्ता शीर्ष हारने वाली नई रणनीति भाग 1

नमस्ते दोस्तों Anjan Tech Research में आप का स्वागत है , आज हम बात करेंगे Intraday Top Gainer Top Loser New Strategy Part 1 टॉप गइनेर और टॉप लोसर “Top Gainer Top Loser ” फॉलो करके कैसे स्टॉक खरीद सकते है और बेच सकते है। मार्किट ओपन होनेके बाद १० बजे हमें देखना है घंटे की हिसाबसे कोनसी स्टॉक गइनेर है ,कोनसी स्टॉक गइनेर लोसर स्टॉक निकलने के लिए हमें जाना है nseindia.com website अब हम गइनेर स्टॉक में से जो स्टॉक 2%,3%,4% ग्रोथ है ,इसमें से जो स्टॉक हाईएस्ट ग्रोथ है उसे सेलेक्ट करेंगे। सेलेक्ट करने के बाद अब देखना है स्टॉक अगर ४% ग्रोथ करके २% पे गिरा ,याफिर हमें इंतजार करना है स्टॉक ४% से मतलब जहातक हाई लगाया बहा से ५०% ग्रोथ प्राइस गिरा के नहीं।

 

स्टॉक अगर १०० रूपए से इनक्रीस करके १२० का हाई टच करते है ,कैलकुलेट करके मिलते है १० रूपए का हाई बनाया और हाई % है ४% , कहना का मतलब यह है १२० रूपए हाई से गिरके ११५ रूपए का लौ बनाएगा तब हम स्टॉक सेलेक्ट करेंगे। Stock Gain = 4% Open price 110, High price 115 ,Current price 112 , 2% less = Select Stock .अब स्टॉक सेलेक्ट करे खरीदने के लिए। गइनेर के किसी भी स्टॉक ओपन से जो हाई बनाते है तब हाई % से आधा % जब गिरेगा तब स्टॉक खरीदने के लिए सेलेक्ट करेंगे। स्टॉक बेचने के लिए हाईएस्ट लोसर स्टॉक सेलेक्ट करे , जैसे स्टॉक प्राइस ओपन रेंज ३२०, लौ ३१३ टोटल लेस्स प्राइस ७ रूपए = २ % लेस्स। स्टॉक तब बेचे जब स्टॉक प्राइस रिकवरी करके ३१६ में टच करे। मतलब २% लेस्स के आधा १% रिकवरी करने से,

Read This इसे पड़े : How to buy shares in the right time according to price to book value | प्राइस टू बुक वैल्यू के अनुसार सही समय में शेयर कैसे ख़रीदे।BTST in hindi

 

ट्रेडिंग सेशन में टॉप गइनेर टॉप लोसर कुछ समय या फिर आधा घंटा में परिवर्तन होते रहते है, १० बजे जो हाईएस्ट गइनेर और लोवेस्ट लोअर स्टॉक है उसे सेलेक्ट करे।’Top gainer top loser new strategy part 1′ / “शीर्ष लाभकर्ता शीर्ष हारने वाली नई रणनीति भाग 1”

Top gainer top loser new strategy part 1/ शीर्ष लाभकर्ता शीर्ष हारने वाली नई रणनीति भाग 1

 

 

What is EPS? What is the importance of EPS in buying stocks? ईपीएस क्या है ? स्टॉक खरीदने में ईपीएस का क्या महत्व है।

What is EPS? What is the importance of EPS in buying stocks? ईपीएस क्या है ? स्टॉक खरीदने में ईपीएस का क्या महत्व है।

नमस्ते दोस्तों Anjan Tech Research में आप का स्वागत है , आज हम बात करेंगे What is EPS? What is the importance of EPS in buying stocks ईपीएस देख के किसी स्टॉक को खरीदने से फ़ायदा क्या होता है ,ईपीएस फॉलो करना क्या जरुरी है किसी स्टॉक में इन्वेस्ट करने के लिए। तो चलिए जान लेते है ईपीएस।

ईपीएस का पूरा नाम है Earning Per Share . किसी स्टॉक कंपनी जब स्टॉक लांच करती है तब स्टॉक की प्राइस अगर १० रूपए है तो स्टॉक कुछ महीने में यह फिर कुछ सालो में १० का स्टॉक १०० भी हो जाती है डिमांड और सप्लाई की बजह से। कंपनी जब स्टॉक लांच करती है तब स्टॉक की टोटल नो ऑफ़ शेयर होते है ,जैसे जैसे स्टॉक प्राइस बढ़ती है बसे ही कंपनी का प्रॉफिट भी बढ़ती है। साल में तीन बार रिजल्ट निकलता है।

Read This इसे पड़े : What is a dividend? How to get dividend and bonus shares?

जैसे त्रैमासिक, अर्ध वार्षिक, वार्षिक त्रैमासिक देखे तो त्रैमासिक के हिसाब से कंपनी के जितने सरे नो ऑफ़ शेयर है मतलब कंपनी के पास अगर 10,00000 शेयर है और कंपनी ने त्रिमाही में 100,000 प्रॉफिट क्या है तो फार्मूला ऐसे होते है

EPS = Total Earning / No Of Share = (Total Earning 100,000 / No Of Share 10,00,000 = 10 Rs .

What is EPS? What is the importance of EPS in buying stocks? ईपीएस क्या है ? स्टॉक खरीदने में ईपीएस का क्या महत्व है।

What is EPS? What is the importance of EPS in buying stocks? ईपीएस क्या है ? स्टॉक खरीदने में ईपीएस का क्या महत्व है।

कंपनी को हर शेयर में १० रूपए प्रॉफिट हो रहा है। लकिन इसमें और एक बात कंपनी जब शेयर लांच करती है तब टोटल शेयर के 50 से 70 % शेयर प्रमोटर के पास रहती है। बाकी ३० % शेयर डिलीवरी और इंट्राडे होती है जो रिटेल इन्वेस्टर ट्रेडिंग करती है। रिटेल इन्वेस्टर्स ,प्रमोटर जैसे शेयर होल्डिंग पैटर्न में जो नो ऑफ़ शेयर रहती है बो सब मिलके होते है कंपनी टोटल नो ऑफ़ शेयर। ईपीएस कुछ कंपनी का नेगेटिव रहती है और कुछ कंपनी का प्रॉफिट में रहती है। ईपीएस पॉजिटिव मतलब कंपनी प्रॉफिट में है ,फ्यूचर में अच्छी परफॉरमेंस देगी जिस में अच्छी रेतुर्न मिलेगी। हमें हमेशा कोशिस करना है उस स्टॉक में इन्वेस्ट करना जिस स्टॉक में ईपीएस 12 से 20 के ऊपर है। ईपीएस 20 के ऊपर है तो उस स्टॉक को बेस्ट स्टॉक कहलाते है। “ईपीएस क्या है ? स्टॉक खरीदने में ईपीएस का क्या महत्व है”

What is EPS? What is the importance of EPS in buying stocks? ईपीएस क्या है ? स्टॉक खरीदने में ईपीएस का क्या महत्व है।